Most Trusted Portal for Booking Puja Online Uncategorized || श्री गणेश आरती ||

|| श्री गणेश आरती ||

Ganesh aarti

श्री गणेश आरती

 

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो,जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

 

 

ऐसे हि मिनी ब्लॉग्स के लिए हमें फॉलो करें @PujaArti 

कृपया अपनी राय नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अवश्य दें|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

Brahma ji

|| ब्रह्मा गायत्री मंत्र || ब्रह्म गायत्री मंत्र के लाभ |||| ब्रह्मा गायत्री मंत्र || ब्रह्म गायत्री मंत्र के लाभ ||

|| ब्रह्मा गायत्री मंत्र ||   ॐ वेदात्मने विद्महे हिरण्यगर्भाय धीमहि तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात्॥ ॐ चतुर्मुखाय विद्महे कमण्डलु धाराय धीमहि तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात्॥ ॐ परमेश्वर्याय विद्महे परतत्वाय धीमहि तन्नो ब्रह्म

Ram ji

रघुपति राघव राजाराम- श्रीलक्ष्मणाचार्यरघुपति राघव राजाराम- श्रीलक्ष्मणाचार्य

रघुपति राघव राजाराम- श्रीलक्ष्मणाचार्य   रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम ॥ सुंदर विग्रह मेघश्याम गंगा तुलसी शालग्राम ॥ भद्रगिरीश्वर सीताराम भगत-जनप्रिय सीताराम ॥ जानकीरमणा सीताराम जयजय राघव सीताराम ॥

Saraswati Maa

|| सरस्वती मां की आरती |||| सरस्वती मां की आरती ||

  || सरस्वती मां की आरती || ॐ जय सरस्वती माता, मैया जय सरस्वती माता। सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता॥ जय सरस्वती माता…॥ चन्द्रवदनि पद्मासिनि, द्युति मंगलकारी। सोहे शुभ हंस